Language:
English
German
French
Spenish
Italian
Russian
Russian
Italian
Spenish
French
German
English
इस पृष्ठ को अन्य भाषाओँ में पढ़ें:

अन्तराष्ट्रीय योग शिक्षक शिक्षण (IYTT)

Swami Ji - yoga philosophy

प्रमाणिक तथा उच्चस्तरीय योग -
योग के उत्पन्न देश में वास्तविक योगीयों द्वारा शिक्षण

अपने योगा के ज्ञान को विस्तृत किजिए तथा उच्चस्तरीय परिवर्तन जो आपने किसी भी साधारण योग शिक्षण में नही सीखाया होगा, आपकी पढ़ाने का अध्यन नये आसनों के साथ और अधिक आकर्षक हो जायेगा, यशेन्दु जी तथा अन्य शिक्षकों कि सहायता से अपने अध्यन को और भी अधिक गहरा तथा निखारिये तथा स्वामी जी द्वारा अपने योग के विद्वत तथ्यों के बारे में प्रश्नो के उत्तर प्राप्त किजिए 

स्वास्थ, जीवन सम्बंधी अंग, शारिरीक तथा मानसिक शक्ति तथा आंतरिक शांति - एक योग शिक्षक या लम्बे समय से अध्यन करे चले आ रहे अध्यनकर्ता कि तरह आप जानते है कि यह कुछ लाभ हैं जो योग आपको प्रदान करता है यदि आप इन लाभो कि सुक्ष्मतः खोज के लिए आप एक योगा आयोजन, एक विस्तृत योग विश्राम तथा प्रमाणिक योग कक्षाओं को खोज रहे हैं तो आपको स्वामी जी के आश्रम भारत में शिक्षको के लिए अन्तराष्ट्रीय योग शिक्षण के अतिरिक्त अन्य कोई सही विकल्प नही मिल सकता है

शिक्षण उद्देश्य

यह दुसरों कि तरह योग शिक्षक शिक्षण नही है बल्कि यह शिक्षकों के लिए योग शिक्षण है  हम आपको कुछ अतिरिक्त ज्ञान देना चाहते हैं की जिसे आप प्रयोगात्मक रूप से अपने कक्षाओं को आकर्षक बनानें तथा अपने व्यक्तिगत अनुभव के लिए प्रयोग कर सकते हैं
जैसा कि आप के पास ज्ञान तथा अनुभव पहले से ही है, हम हमें आपको योग के बारे में बताना समय को व्यर्थ करना होगा लेकिन हमें गंभीरता से योग के अन्य तरीको को अपने लिए विस्तृत करने के लिए एक सही मार्ग पर चलना होगा जिससे आपके योग के अनुभव तथा अध्यन में नियमित विकास होगा  

इन चार सप्ताह के योग आयोजन में आप करेंगे

- आंतरिक अधारभूत योगिक सिद्धान्त तथा ज्ञान
- वर्तमान आसन के साथ परिवर्तन बनाना सीखना
- परिवर्तन के महत्व के साथ योग शिक्षा देने के लिए सीखना
- अपने शरीर कि क्षमताओं को खोजना जिसने आपको अभी तक छुपाया हुआ था
- योग के विभिन्न तथ्यो के असर से गहरी समझ तथा अनुभव प्राप्त करो
- प्रतिभागीयों कि जरूरत के लिए अपने योग शिक्षा के विषय को समायोजित करने के लिए सीखना
- व्यक्ति के मन तथा मस्तिष्क के स्वभाव के जागरूकता तथा ज्ञान का ज्ञानपूर्ण विकास करो
- योग के सिद्धान्तों के अनुसार भावनाओं को व्यवस्थित करना
- योगिक परम्परा से सम्बंधित धर्मग्रन्थो के बारे में ज्ञान प्राप्त करिए
- निजी आसनो के अध्यन तथा ध्यान को मजबूत बनाईए जो की गंभीरता से विकसित होगा तथा समय मे प्रबलता देगा
- उच्चस्तरिय योग कि तकनीकों को सीखिए जो कि अन्य दुसरी शिक्षण कार्यक्रमों जैसी सधारण नही है
- अपने उर्जा तंत्र के बारे में ज्ञान तथा समझ प्राप्त किजिए तथा उनको कैसे नियंत्रित किया जाता है

यहाँ स्वास्थ का नियंत्रण अध्यन तथा मत के बीच, आसन तथा धैर्य के बीच होगा तथा आप आश्रम में पहली बार अनुभव करेंगे कि कैसे यौगिक दार्शनिक विषय आपके जीवन में कार्यान्वित होता है
योग कार्यशाला आपको उच्चस्तरिय तकनीक तथा मुद्राएँ प्रदान करायेगा तो यदि आप विस्वास करते हैं कि यह तथ्य आपके अध्यन में हैं तथा उनको निखारने कि आप को जरूरत है तो यह शिक्षण आपके लिए सर्वश्रेष्ठ होगा
प्रतिभागीयों कि संख्या सिमित होंगी ताकि शिक्षक स्वयं को आपको आपके अनुभव के स्तर के अनुसार शिक्षा देने के लिए समायोजित कर सके तथा प्रत्येक प्रतिभागी इन क्षेत्रों में हमारी सहायता प्राप्त करेगा की वह (लड़का या लड़की) मजबूत बनना चाहता है तथा गहरी खोज करना चाहता है
यह समय आपके लिए आनन्द, सीखने, अध्यन तथा आराम का होगा, इन हफ्तों को अपना भारत में विश्राम (अवकाश) बनाईए!

शिक्षण विषय-सूची

योग परिचय

हठ योग

क्रिया योग

साधारण दृष्टिकोण से योगिक दर्शन योगिक जीवन के तौर तरिके हैं
एतिहासिक दृष्टिकोण से योग - योग का मूल स्थान तथा योग का विकास
आसन
विशेष महत्व के साथ विभिन्न आसन कुछ इस तरह हैं: स्वास्थ के लिए आसन; तनाव में कमी करना; वजन कम करना; आराम देना; ह्रदय शिक्षण; साधारण स्वास्थ्य तथा ताकत; आँख तथा आँखों कि रोशनी के लिए व्यायाम
प्राणायाम के सिद्धान्त के लिए परिचय      ( उर्जा के बनाने तथा मार्गदर्शन के लिए यौगिग श्वासक्रिया)
साधारण तथा उच्चस्तरिय प्राणायाम
प्राचीन लिपि (हठ योग प्रदिपिका....)
हठ योग के गुरू
 यौगिक शुद्धिकरण का परिचय तथा अध्यन (क्रियाएँ)
उदाहरणतः: नेति, दन्त धौति, जीह्वा धौति, कर्ण धौति, त्रतक, कपालभाति, पवन बस्ती, जल बस्ति, अग्निसार, नौलि, कुंजर
कुछ क्रियाएँ केवल व्यक्त करने वाली होंगी, दुसरी क्रियाओं का अध्यन समुह या व्यक्तिगत किया जायेगा

राज योग

कुण्ड़लिनि योग

ज्ञान योग


 
योग के अनुसार चेतना का स्तर       पतंजलि के सुत्र
ध्यान का परिचय
ध्यान के सिद्धान्त
ध्यान के विभिन्न प्रकारो का अध्यन
नियमित ध्यान अध्यन
सम्भव दृश्यघटना जिसे ध्यान द्वारा प्रेरित किया जा सके
चरित्र के विकास के लिए सिद्धान्त
चेतना का विकास
प्राचीन धर्मग्रन्थ (योग सुत्र ...)
राज योग के गुरू
कुण्ड़लिनि शक्ति कि परिभाषा
चक्र
बंध
आंतरिक उर्जा संरचना से परिचित हो जना s
शरीर में एक हार्मोनिक उर्जा कि स्थापना करना
मनुष्य का एक अलग प्रकार का क्रियाशील शरीर
वेदान्त दर्शनशास्त्र का परिचय
ज्ञान तथा गुण में अन्तर
“अभी“ क्या है ?
“यहाँ तथा अभी” को अपने जीवन का केन्द्र बनाना
अध्यात्मिक विकास के स्तर
प्राचीन धर्मग्रन्थ (वेदास, उपनिषद, ब्रह्म सुत्र, भागवत्‌ गीता...)
ज्ञान (जाना) योग के गुरू

भक्ति योग

कर्म योग

अतिरिक्त विषय

योग कि भक्ति के सिद्धान्त
अहंकार को समाप्त करने के पद्धति
क्षण के लिए भक्ति
समारोह तथा पद्धति स्वयं को ईश्वर से मिलाने कराने के लिए
मंत्र – इनका अर्थ, प्रभाव तथा उपयोग
भजन – पवित्र वाक्य जिसे संगीत के साथ मिलाया तथा बोला जाता है
किर्तन – समुह गान तथा नृत्य        प्राचीन धर्मग्रन्थ जैसे भक्ति सुत्र तथा पूजा समारोह
भक्ति योग के गुरू
निस्वार्थ कार्य तथा सेवा के सिद्धान्त
बिना प्रोत्साहन के अध्यन करना
अलग होने के लिए विकास
कर्म – कारण तथा प्रभाव के नियम
धर्म
कर्म योग के गुरू
उच्चारण सहित साधारण संस्कृत
योग चिकित्सा: इनकी सम्भावना तथा सिमाएँ
पोषण
तीन गुण

शिक्षण कि स्माप्ति पर प्रत्येक प्रतिभागी को प्रमाण पत्र दिया जायेगा

तस्वीर तथा उच्चस्तरिय योग मुद्राएँ देख्नने के लिए यहाँ क्लिक करें

तिथि,  समय सूची तथा स्थान

Yashendu - Yoga Asanas

1 नवम्बर 2011 - 3 दिसम्बर 2011

शिक्षण 31 दिनो में 200 घंटो में बटाँ है तथा शिक्षण का स्थान भारत में श्री बिंदु सेवा संस्थान आश्रम, वृन्दावन में होगा

आश्रम के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

विराम के समय आपके के लिए वृन्दावन के मंदिरो तथा इस भव्य तथा धार्मिक स्थल के भ्रमण के लिए  समय होगा, जहाँ आप मंदिरो के साथ यहाँ के आकर्षक बाजारों तथा सुंदर गलियों को देख सकते हैं तथा अपने इन सुंदर तथा धार्मिक क्षणों को स्मरंण के रूप में अपने कैमरों में ले सकते हैं
हम नृत्य कर, गाकर, जपकर तथा अपने स्कुल के बच्चों के साथ खेल कर और भी आनन्द लेंगे  
रविवार को यहाँ किसी प्रकार का शिक्षण नही होता है अतः आप यहाँ से बाहर भ्रमण के लिए जा सकते हैं तथा पुराने जलस्थल, यहाँ से निकट राजस्थान घना पक्षी विहार तथा सुप्रसिद्ध ताज महल देख सकते हैं जो यहाँ से वाहन द्वारा केवल एक घन्टे कि दूरी पर है
शिक्षण के अंतिम दिन हम सब एक साथ एक हवन स्मारोह करते हैं

वातावरण

यह तापमान पुरे वर्ष का सबसे उत्तम तापमान होता है इस समय 22°C – 24°C उच्चतम तापमान के साथ  मौसम थोडा धुप भरा होता है, रात्रि में कभी कभी तापमान 10°C - 12°C नीचे गिरने के साथ मौसम शान्त तथा ठंडा हो जाता है, इस समय मौसम बहुत ही स्थिर रहता है, खुष्क तथा धुप से भरा होता है, हमारे योग अध्यन के लिए एक आदर्श मौसम होता है

इस योग अध्यन के लिए हमें क्या आवश्यक है?

कम से कम एक वर्ष का योग शिक्षण में अ‍नुभव
या
तीन साल का योगा अध्यन
योग दर्शन में एक विशेष रुची
परिवर्तन तथा विकास में धैर्य
आंतरिक तथा बाहरी बदलाव के प्रति हमारे खुले मस्तिष्क के विचार

भाग लेने के लिए यहाँ क्लिक करें

Price

आप समान पाठ्यक्रम तथा शिक्षण के लिए भुगतान के समय दे सकते हैं 5000,- € to 6000,- €, अधिक, हम इस विशेष तथा तथा प्रमाणिक योग शिक्षण पाठ्यक्रम सभी सम्मिलित मुल्यों के लिए सिर्फ़ 3100,- €  में भेंट करते हैं

यह सभी सम्मिलित मुल्य:

- आप को नई दिल्ली इन्दरा गाँधी अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डे से लेकर आश्रम तक कि यात्रा
- आश्रम में सुव्यवस्थित कमरे
- पूर्ण शाकाहारी तथा आयुर्वेदिक भोजन
- 4 सप्ताह का शिक्षको के लिए अन्तराष्ट्रीय योग शिक्षण
- नई दिल्ली इन्दरा गाँधी अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर वापीस आपको छोड़ना

श्री बिंदु सेवा संस्थान एक रजिस्टर्ड़ चैरिटेबल ट्रस्ट है तथा इस शिक्षण कार्यक्रम से प्राप्त सारा धन हमारे बच्चों कि परोपकार योजनाओं में लगाया जाता है

इस योगा आयोजन कि पूर्व बुकिंग के लिए आपको आयोजन कि 50%  फीस पहले जमा करवानी होगी तथा बाकी का 50% फीस आप अपने भारत पहुँचने के समय या आने के कुछ दिन पूर्व दे सकते हैं

अपने पूर्व भुगतान के लिए लिए यहाँ क्लिक करें

कृपया अपने रूकने के लिए अपना (टुरिस्ट) वीजा लाना मत भुलना, हम आपकी वापसी की टिकट जल्दी कराने के लिए शिफारिश करने के लिए आपसे शुरूआत में अधिक फीस लेंगे ताकी बाद में आप अपनी टिकट बुक करा सके

यह पाठ्यक्रम अंग्रेजी में निर्धारित किया जायेगा