Language:
English
German
French
Spenish
Italian
Russian
Russian
Italian
Spenish
French
German
English
इस पृष्ठ को अन्य भाषाओँ में पढ़ें:

ताज महल

Taj Mahal

ताज महल -

एक प्रेम स्मारक

स्थापत्यकला का यह अद्‍भुत नमूना लगभग 1648 में पूरा हुआ यह मुगल शाहजहाँ का अपनी प्रिय पत्नी मुमताज महल के प्रति प्रेम का प्रतीक है हाल में ही इस विश्व विरासत स्थल को विश्व के सात नये आश्चर्यों में से एक घोषित किया गया है अभी तक का दि्या गया सबसे कीमती उपहार यूनानी, इरानी एवं भारतीय स्थापत्यकला का सम्मिश्रण है यह अनमोल वस्तु सफेद संगमरमर का बना है एवं इसमें विस्तृत अलंकरण है जो प्रत्येक पर्यटक को मुग्ध करता है विशेष रूप से सूर्योदय या सूर्यास्त के समय ताज महल सुनहरी रोशनी में नहाता है एवं सैकड़ों पर्यटकों के सिरों के ऊपर आभामय सुंदरता बिखेरता है इसकी विशेष सुंदरता उस समय भी उजागर होती है जब आप इसे पूर्णिमा के दिन देखते हैं जो अब खुलने के लंबे समय के कारण संभव है इसकी असाधारण सुंदरता आपके स्मरण में सदा व्यप्त रहेगी चूँकि यह आश्रम से केवल 60 किलोमीटर की दूरी पर है तो जब कभी भी आप आश्रम में रूकते हैं तो हम सहर्ष आपके लिये वहाँ का भ्रमण आयोजित करेंगे

Click here to see pictures of trips to the Taj Mahal