Language:
English
German
French
Spenish
Italian
Russian
Russian
Italian
Spenish
French
German
English
इस पृष्ठ को अन्य भाषाओँ में पढ़ें:

आयोजक

Swami Balendu
 


स्वामीजी को अपने घर पर आमंत्रित करें

लोगों के बीच प्रेम बाँटने के लिये स्वामीजी समूचे विश्व में भ्रमण एवं कार्य कर रहे हैं, व्याख्यान दे रहे हैं, कार्यशाला एवं व्यक्तिगत उपचार सत्र आयोजित कर रहे हैं वे अनेक अस्पतालों का भी भ्रमण करते हैं एवं चिकित्सकों के चिकित्सालयों में उपचार सत्र आयोजित करते हैं तथा सलाह देते हैं प्रेम के इस ऊर्जा एवं संदेश को फैलाने के लिये वे हमेशा नये स्थानों का भ्रमण करने के लिये तैयार रहते हैं

आप स्वामीजी को आने एवं उपचार, कार्यशालाएँ तथा अन्य क्रियाकलाप करने के लिये अपने स्थान पर आमंत्रित कर सकते हैं  इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है आपका कोई योग केन्द्र है, आप ऊर्जा के साथ कार्य कर रहे हैं या आप आध्यात्मिकता को पेशे के रूप में न अपनाकर सामान्य रूप से इसमें अभिरूचि रखते हैं जो बात महत्वपूर्ण है वह है एक खुला हृदय स्वामीजी हृदय से हृदय का संपर्क बनाना चाहेंगे एवं इस प्रकार वे पूरे विश्व में मित्र बनाना चाहते हैं स्वामीजी मिट्टी से जुड़े, सामान्य लोगों के साथ रहना चाहते हैं जो प्रेम का यह संपर्क बनाना चाहते हैं

इस कार्यक्रम को आयोजित कर आप उस अद्‍भुत हर्ष एवं प्रेम का अनुभव कर सकते हैं जिसे लोग स्वामीजी की उपस्थिति में एक दर्शन, कार्यशाला या उनके असार्वजनिक समय में महसूस करते हैं उन लोगों की कृतज्ञता को देखना आश्चर्यजनक है जिन्होंने एक आध्यात्मिक सत्र में भाग लिया एवं अपने बोझ तथा कष्ट से राहत पाया चिंतन के अंत में लोगों को हल्का एवं स्वतंत्र महसूस करते, अपने भविष्य के लिये विश्वास से भरा देखना एक अनोखी बात है

संक्षेप में हमारा कार्यक्रम

सामान्य रूप से स्वामीजी व्यक्तिगत उपचार सत्र प्रतिदिन करते हैं इनमें वे अनुकूल ऊर्जा को चक्रों में पुन:संतुलित करते हैं एवं शरीर के चारों तरफ सुरक्षा के रूप में प्रेम ऊर्जा का एक कवच तैयार करते हैं इनमें से प्रत्येक उपचार सत्र 30 मिनटों का होता है स्वामीजी प्रतिदिन सुबह 10 बजे से संध्या 6 बजे तक उपचार कर सकते हैं

संध्या के समय, प्राय: कहीं हमारे ठहराव के शुरू में, एक दर्शन होता है दर्शन हृदय चक्र को खोलने के लिये एक समूह चिंतन एवं समूह उपचार है इसमें लोग अपने हृदयों को खोलने एवं अपनी भावनाओं को महसूस करने तथा व्यक्त करने में मदद प्राप्त करते हैं इसमें दो से तीन घंटे (लोगों के परिमाण पर निर्भर करते हुये) लगते हैं हम इसे प्राय: आरंभ में करते हैं ताकि लोगों को स्वामीजी को एक समूह में जानने का एक अवसर मिले एवं उन्हें थोड़ा जानकर व्यक्तिगत उपचारों के लिये अपना स्थान भी सुरक्षित करा सके

यशेन्दु गोस्वामी प्रेम चिंतन प्रस्तुत करते हैं उन्होंने शांतिपूर्ण संगीत के द्वारा इस प्रेम चिंतन की रचना की जो हमें अपने हृदय तथा हमारे प्रेम तक वापस आने का मार्ग ढूँढ़्ने में मदद करता हैI यह लगभग एक घंटे का चिंतन है

एक चक्र नृत्य पार्टी आयोजित होने की भी संभावना है यह बिना नशीले-पदार्थों, मद्य या जूतों का एक आध्यात्मिक डिस्को है हमने प्रत्येक चक्र के लिये एक विशेष संगीत की रचना की है जो हमारे चक्रों की ऊर्जा को प्रेरित करता हैI मुक्त रूप से नृत्य कर भी हम महसूस करते हैं कि हम इस ऊर्जा को क्रियाशील कर सकते हैं स्वामीजी प्रत्येक चक्र के लिये लघु व्याख्याओं के द्वारा पूरे शाम मार्गदर्शन करेंगे

Darshan

यदि लोग चक्रों के एक अधिक विस्तृत व्याख्या में अभिरूचि लेते हैं, तो एक चक्र कार्यशाला आयोजित की जा सकती है इसमें स्वामीजी अपने चक्रों के साथ कार्य करने तथा स्वयं अवरोधों को समाप्त करने के संबंध में विधियाँ तथा तकनीक बताते हैं चक्र कार्यशाला आधा दिन, पूरे दिन भर या एक सप्ताहांत तक चल सकती है इस कार्यशाला को करने के किये स्वामीजी को कम से कम 20 प्रतिभागियों की जरूरत होती है

आयुर्वेदिक पाक कार्यशालाओं में आप एक स्वास्थ्यकर ढ़ंग से शाकाहारी भोजन पकाना सीख सकते हैंI इसके बाद स्वादिष्ट भोजन एक-साथ खाया जायेगा इसमें लगभग 4 घंटे लगते हैं

दो या चार घंटे के कार्यशालाओं का आयोजन विभिन्न विषयों जैसे कि योग एवं तनाव, पीठ का दर्द, स्त्रियों के स्वास्थ्य, वजन की कमी के लिये हो सकता है......यशेन्दु गोस्वामी प्रतिभागियों का आसनों के द्वारा मर्गदर्शन कर सकते हैं

यदि आप एक अस्पताल का भ्रमण आयोजित करना चाहते हैं तो स्वामीजी वैसे लोगों को अस्पतालों में भी अपनी उपचारात्मक ऊर्जा के द्वारा सहायता प्रदान कर प्रसन्न होंगे जिन्हें इसकी सर्वाधिक जरूरत है उन्हें वे अपना प्रेम देने के लिये इसे नि:शुल्क करेंगे

बच्चे, किशोर या किशोरी एवं युवा वयस्क स्वामीजी के लिये बहुत महत्वपूर्ण हैं वे विद्यालय या विश्वविद्यालय में व्याख्यान देकर युवा लोगों की उनके विकास में मदद करना पसंद करेंगे यशेन्दु गोस्वामी वहाँ योग कार्यशालाएँ आयोजित करने में अपना योगदान देकर प्रसन्न होंगे युवा लोगों की मदद कर आप ईश्वर की सेवा कर सकते हैं स्वामीजी एवं यशेन्दु गोस्वामी इसे उनके लिये एक उपहार के रूप में करते हैं क्योंकि वे इस जगत के भविष्य हैं

Friends

हमारी आवश्यकताएँ

स्वामीजी यशेन्दु एवं रमोना के साथ भ्रमण कर रहे हैं उन्हें दो कमरे की जगह चाहिये एवं वे एक घर में न कि होटल में रह कर प्रसन्न होंगे क्योंकि व्यक्तिगत संपर्क महत्वपूर्ण एवं मूल्यवान है वे भारतीय व्यंजन पकाना एवं खाना पसंद करते हैं इसलिये वे आपके साथ मिलकर पका कर एवं खाकर प्रसन्न होंगे
व्यक्तिगत उपचार सत्रों के लिये मालिश तालिका आवश्यक है उसी कमरे में एक सी डी प्लेयर भी होना चाहिये
कमरे के आकार पर निर्भर करते हुये दर्शन, चिंतन एवं कार्यशालाओं के लिये एक माइक्रोफोन की जरूरत हो सकती है
चक्र नृत्य पार्टी के लिये उन्हें एक संगीत यंत्र एवं एक माइक्रोफोन की जरूरत है

प्रचार

निश्चित रूप से आपके क्षेत्र में ढ़ेर सारे लोग हैं जिनकी स्वामीजी के कार्यक्रम में अभिरूचि हैइसलिये जब वे आते हैं तो य्न्हें यह समझना चाहिये कि उनके भाग लेने की संभावना है यदि आपका स्वयं का केन्द्र है तो आप अवश्य सारी सूचना भेज सकते हैं कि क्या, कब एवं कहाँ आपसे संपर्क करना है? आप योग केन्द्रों एवं अन्य आध्यात्मिक केन्द्रों से संपर्क कर सकते हैं प्राय: वे स्वामीजी के व्याख्यान या यशेन्दु की योग कार्यशालाएँ आयोजित करने में रूचि लेते हैं
आप जैव-दूकानों, केन्द्रों, एवं अस्पतालों में पूछ सकते हैं कि क्या आप वहाँ प्रचार-पर्चियाँ लगा सकते हैं?

स्थानीय संचार-माध्यमों को सूचित किया जा सकता है कुछ सकारात्मक बातों के संबंध में रिपोर्ट कर पत्रकार प्राय: प्रसन्न होते हैं स्वामीजी भी एक रेडियो या दूरदर्शन साक्षात्कार देकर प्रसन्न होंगे छोटे समाचार पत्रों के लेख भी बहुत सारी रूचि एवं ध्यान उत्पन्न करते हैं
यदि आपको विज्ञापन के लिये विषय-वस्तु की जरूरत हो तो आप उसे हमारे वेबसाइट से लेकर डाउनलोड कर सकते हैं

वित्तीय

स्वामीजी भारत में गरीब बच्चों की सहायता करने के लिये कार्य करते हैं ताकि उन्हें भविष्य में एक अवसर मिले उपचार एवं चिंतन से प्राप्त धन का प्रयोग केवल बच्चों के धर्मार्थ परियोजनाओम के लिये किया जायेगा स्वामीजी का विचार है कि इस धन को दूसरे तरीके से खर्च करना हितकर नहीं होगा इस धन से वे एक शतांश भी रहने या भोजन करने के लिये खर्च नहीं करते हैं उनका व्यक्तिगत खर्च योग कार्यशालाओं, चक्र कार्यशालाओं एवं व्याख्यानों से आनेवाले धन से पूरा होता है इस धन से आयोजकों को भी विज्ञापन या किराये का खर्च पूरा करने के लिये 25% हिस्सा मिलता है

आपका लाभ

स्वामीजी का आगमन आपके लिये एक आशीर्वाद होगा आप अपने घर एवं भारत दोनों में इतने सारे लोगों की मदद कर रहे हैं आपके स्थान पर स्वामीजी के आगमन की घोषणा हमारे वेबसाइट पर की जायेगी जिसमें आपको हमारा आयोजक घोषित किया जायेगा ताकि इस क्षेत्र में अभिरूचि रखने वाले अनेक लोग आपके केन्द्र या आपके द्वारा कार्यक्रम के लिये चुने गये स्थान पर आ सकें आपको कई दिल्चस्पी लेने वाले तथा दिल्चस्प लोगों से मिलने का अवसर मिलेगा

अपने बारे में कुछ सूचना देने के लिये जो हमें आपके स्थान पर कार्यक्रम तैयार करने में मदद करेगा कृपया यहाँ क्लिक करें