Language:
English
German
French
Spenish
Italian
Russian
Italian
Spenish
French
German
English
इस पृष्ठ को अन्य भाषाओँ में पढ़ें:

भूख से पीड़ित के लिए भोजन का योगदान

Food for a day

भूख अभी भी दुनिया में मृत्यु का सबसे बडा़ कारण है और दुनिया के एक तिहाई भूख से पीड़ित लोग भारत में रहते हैं। हर मिनट, पांच भारतीय भूख से मर जाते हैं। इसका मतलब, हर रोज़ ७००० और हर साल २॰५ लाख भारतीय भूख की वजह से मौत का शिकार हो जाते हैं।

क्या आपने कभी अपने आप से पूछा कि कैसे भूख से पीड़ित दुनिया की मदद की जाये ? जाहिर है कि अकेला व्यक्ति पृथ्वी पर सबके भूखे पेट नहीं भर सकता । लेकिन अगर हम सब एक साथ मिलते हैं, हम कुछ कर सकते हैं! और हाँ,यहाँ तक कि एक छोटा सा योगदान भी,एक दिन में एक भूखे बच्चे को भोजन खिलाना, बहुत बड़ा फर्क ला सकता है!

हम हमारे स्कूल के बच्चों के जीवन में एक सकारात्मक परिवर्तन लाने की कोशिश कर रहे हैं ,जिससे उनके परिवारों की मदद भी होगी| हमारे बालवाड़ी और प्राथमिक स्कूल में वे नि:शुल्क सीख रहे हैं और साथ ही उन्हें गर्म ,लागत से मुक्त दोपहर का भोजन मिलता है । कई परिवारों के लिए यह राहत की बात है कि उन्हें कम से कम अपने बच्चों के खाने के लिये चिंता करने कि ज़रुरत नहीं ।

Food for a day

न केवल बच्चे , बल्कि पुराने छात्र और श्रमिक भी आश्रम में समान रूप से खाते , पीते और रहते हैं। तीन रसोइये पूरे दिन रसोई घर में इन लोगों के लिये खाना तैयार करते हैं ।आम तौर पर यहाँ २०० लोगों का खाना तैयार किया जाता है ।

एक दिन का भोजन

आश्रम में एक दिन के लिए भोजन के प्रायोजन के द्वारा, आप हमारी मदद कर सकते हैं। आप ९५ यूरो से २०० लोगों को खाना खिलाकर, उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं। आपके नाम की आश्रम में आज के प्रायोजक के रूप में हमारी वेबसाइट पर और एक बोर्ड पर घोषणा की जाएगी। हम आपको दोपहर के भोजन के चित्र भेजेंगे, जिससे आप सभी खुश चेहरों को देखकर आनंद अनुभव कर सकें।

स्वामी जी हमेशा आपके प्रसन्नता वाले दिन पर दूसरों को खुशी देने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करते हैं। शादी की सालगिरह या जन्मदिन के अवसर पर आप आश्रम में आज के भोजन के प्रायोजक बन सकते है।

अगर आप किसी के लिए एक विशेष उपहार की खोज कर रहे हैं तो उन्हें एक दिन के भोजन के लिए एक प्रायोजक होने का सम्मान देना एक महान विचार है! उन्के लिये दान करें जो दूसरों की खुशी से आनंद अनुभव करते हैं। इस योगदान से आप दूसरों को खुशी दीजिए।

यदि आप एक निश्चित तारीख का चयन करने में या प्रायोजन प्रक्रिया के साथ कठिनाई अनुभव कर रहे हैं, आप बस नीचे दिये माध्यम से दान कर सकते हैं और हमें info@jaisiyaram.com पर ईमेल कर प्रायोजक बनने की तारीख बता सकते हैं।

हमारे स्कूल और आश्रम के एक बच्चे के लिये प्रायोजक बनें

बच्चो के भोजन करते हुए फोटो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

स्वामी बालेन्दु की एक दिन के भोजन के बारे में ऑनलाइन डायरी